मंगलवार, 1 मई 2018

मजदूर : आरसी चौहान





मजदूर

वे आत्महत्या नहीं करते
उन्हें पेट से आगे की दुनिया
भी नहीं दीखती
किसी लेबर चौराहे पर
अब तक नहीं देखा
जीवन से हार मानते

उसने नहीं की
गले में कभी फंदा डालने की जुर्रत
या कलाई की नसें काटने का प्रयास
सोचा भी नहीं होगा
सल्फास के बारे में

गाड़ियों के नीचे आ गया हो कभी
बेदम भूखे लड़खड़ाकर

पेट्रोल छिड़क कर तो कत्तई नहीं
किया अपने को खतम करने की कोशिश
मंड़ई जलने से जला हो कोई
अपने गोरु डांगर बचाने के प्रयास में
थकान मिटाने के नाम पर
पी लिया हो जहरीली शराब
किसी षड़यंत्र के तहत

और अब ये
कि इनके दम पर
जब भी बदला है पृथ्वी का भूगोल
खुबसूरत दीखी है पृथ्वी दूर तलक
पर दीखे नहीं मजदूर कहीं तक दूर दूर।


 संपर्क  - आरसी चौहान (जिला समन्वयक - सामु0 सहभागिता )
        जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी आजमगढ़, उत्तर प्रदेश 276001
        मोबाइल -7054183354
        ईमेल- puravaipatrika@gmail.com

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें